मौसम की बेरुखी से परेशान हुए किसान खरीफ की फसल की बुवाई हुई लेट

पानी की इंतजार में जुटे किसान

बैतूल। प्री मानसून के कहीं पर बारिश हो जाने और कहीं पर बारिश ना होने के कारण किसान अपनी खेती में बुवाई के काम से बिछड़ते दिखाई दे रहे हैं। मानसून विभाग के आंकड़ों की मानें तो 6 जुलाई के बाद मानसून संपूर्ण मध्यप्रदेश में भरपूर मात्रा में दस्तक देगा लेकिन अभी किसी क्षेत्र में जमकर बारिश हो रही है तो कहीं पर बारिश की बूंद भी नहीं हो पा रही है ऐसी स्थिति में किसान धान और मक्का सहित विभिन्न खरीफ की फसलों की बुआई में पिछ्ता नजर आ रहा है जो किसान आर्थिक रूप से सक्षम है उन किसानों ने अपने ट्यूबेल मोटर के जरिए खेतों में पानी डालकर धान की फसल की बुवाई शुरू कर दी है लेकिन जो किसान आर्थिक रूप से मजबूत नहीं है और वह मूल रूप से मानसून पर निर्भर है ऐसे किसान खेत की जुताई करने के बाद आब बारिश का इंतजार कर रहे हैं जानकारों का कहना है कि मानसून के विलंब होने की वजह से खरीफ की फसल की बुवाई और कटाई पर विपरीत असर पडऩे से इनकार नहीं किया जा सकता जबकि पड़ोसी जिले में बारिश होने की वजह से वहां के किसानों के माध्यम से खरीफ की फसल की बुवाई लगभग पूरी कर दी गई है जबकि घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में अभी भी खरीब की फसलों की बुवाई में किसान बिछड़ता दिखाई दे रहा है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.