राजस्थान में बदले मौसम के कारण नहीं चलेगी हीट वेव

मध्यप्रदेश में तीन दिन तक गर्मी से राहत मिलेगी

राजस्थान में अचानक मौसम में बदलाव का असर मध्यप्रदेश में देखने को मिला है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो प्रदेश को अगले तीन दिन तक गर्मी से राहत मिलेगी। यहां हीट वेव नहीं चलेगी। रेगिस्तान में तापमान लुढ़कने और हल्के बादल छाने से प्रदेश के कई इलाकों में मंगलवार को सूरज के तेवर नरम पड़े। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि राजस्थान में तापमान में गिरावट होने से मध्य प्रदेश के कई इलाकों में गर्मी से हल्की राहत देखने को मिली है। अगले तीन दिन तक इसी तरह मौसम बना रहेगा। खास बात यह रहेगी कि अब तक भीषण लू की चपेट में चल रहे मध्यप्रदेश में बुधवार से हीट वेव का असर कम होगा। इससे दिन में भी लोगों को राहत मिलेगी। बादल छाने के कारण कई इलाकों में बीती रात न्यूनतम तापमान ऊपर चढ़ गया। जबलपुर में सबसे ज्यादा 26 डिग्री और भोपाल में 25 के पार पहुंच गया। ग्वालियर और इंदौर में यह 24 से नीचे रहा। मध्य प्रदेश में बीते 12 दिन से लगातार पारा चढ़ रहा है। बीते 122 साल में अप्रैल का पहला हफ्ता सबसे ज्यादा गर्म रहा। इसने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए, लेकिन दूसरे हफ्ते के अंत में हल्की राहत मिलती नजर आ रही है। राजस्थान में पारा गिरने के कारण मध्यप्रदेश में गर्मी से हल्की राहत मिली है। वर्तमान में पश्चिमी विक्षोभ (पाकिस्तान से आ रही हवाएं) ईरान के आसपास पछुवा पवनों के बीच एक ट्रफ के रूप में है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर सक्रिय चक्रवातीय गतिविधियों से लेकर मध्य प्रदेश और विदर्भ तक एक ट्रफ लाइन गुजर रही है। साथ ही, पश्चिमी असम और तटीय तमिलनाडु के क्षेत्रों में चक्रवातीय गतिविधियां मध्य तक सक्रिय हैं। इधर, राजस्थान में तापमान कम होने से पाकिस्तान से आ रही सूखी गर्म हवाएं कमजोर हो गईं। ऊपरी वायु मंडल में हल्के बादल रहने से सूरज की गर्मी के तेवर नरम पड़े हैं। वैज्ञानिक साहा ने बताया कि इससे गर्मी से हल्की राहत जरूर मिलेगी, लेकिन गर्मी कम नहीं होगी। दिन का पारा 40 से 42 के बीच बना रहेगा। अभी यह 45 डिग्री से ज्यादा चुका था। अप्रैल के अंत में एक बार फिर इसके बाद पारा एक बार फिर 45 डिग्री के पार जाने की संभावना है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.