मृत व्यक्ति का नाम जोड़कर ग्रामसभा में दर्शाया बहुमत

कोटवार को पद से पृथक करने के मामले में नया खुलासा कोटवार ने की शिकायत, षडयंत्र पूर्वक कार्यवाही करने के लगाए आरोप

बैतूल। The majority shown in the Gram Sabha by adding the name of the deceased person दो साल पहले जिस व्यक्ति की मृत्यु हो गई है, उस व्यक्ति का नाम ग्रामसभा की बैठक में शामिल कर बहुमत दर्शाया जा रहा है। यह कारनामा आमला तहसील क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत हरन्या में सामने आया है। गौरतलब है कि विगत 20 मई 2022 को हरन्या पंचायत में ग्रामसभा हुई थी, जिसमें कोटवार को हटाने का प्रस्ताव लिया गया था। इस प्रस्ताव में मृत व्यक्ति का नाम भी शामिल है। यह आरोप हरन्या ग्राम के पूर्व कोटवार खेमचंद पंडोले ने लगाया है। खेमचंद ने इसकी शिकायत करते हुए जांच की मांग की है। दरअसल, ग्राम हरन्या में पदस्थ कोटवार खेमचंद पंडोले पर ग्रामीणों ने कई आरोप लगाते हुए ग्राम सभा में हटाने का प्रस्ताव लिया था। यह प्रस्ताव पंचायत द्वारा 20 मई 2022 को लिया गया था , जिसमें बहुमत दर्शाने के लिए ग्रामीणों के नाम भी शामिल किए गए थे। इन नामों में मोतीराम पटेल यदुवंशी का नाम भी सम्मिलित है, जिनकी मृत्यु दो साल पहले वर्ष 2020 में हो चुकी है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि ग्राम सभा में मृत व्यक्ति का नाम शामिल करना कहीं न कहीं षडयंत्रपूर्वक बहुमत को दर्शाने के लिए किया गया है। इसके पीछे कोटवार ने तात्कालीन सरपंच – सचिव पर भी सवाल खड़े किए हैं।
द्वेष भावना से की जाती है झूठी शिकायतें
पूर्व कोटवार खेमचंद पंडोले का आरोप है कि गांव के ही कुछ लोग उनसे द्वेष रखते है और उनकी कई बार झूठी शिकायतें भी की गई। जब कार्यवाही नहीं हुई तो उन्होंने पंचायत की ग्राम सभा में इस मुद्दे को रखकर बहुमत दर्शाने के लिए षडयंत्रपूर्वक मृत व्यक्ति का नाम भी शामिल कर दिया, ताकि बहुमत के आधार पर प्रस्ताव पारित किया जा सके। कोटवार पंडोले ने बताया कि ग्राम सभा में जिन लोगों के नाम लिखे गए हैं उनमें सभी के हस्ताक्षर लिए गए है। केवल मोतीराम पटेल यदुवंशी के नाम के समक्ष हस्ताक्षर का कालम खाली है। इससे स्पष्ट है कि कोटवार को हटाने और प्रस्ताव में बहुमत दर्शाने के लिए षडयंत्र रचा गया। कोटवार खेमचंद पंडोले का कहना है कि ग्रामसभा की बैठक में यह आरोप लगाए गए थे कि उन्होंने सेवाभूमि विक्रय की है। जिसकी शिकायत के बाद उन्हें पद से पृथक कर दिया गया। पंडोले ने जिला कलेक्टर से उक्त मामले की जांच कर उचित कार्यवाही करने का आग्रह किया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.