Betul News: दुराचार पीड़िता को बयान बदलने की दी जा रही धमकी

पीड़िता ने एसपी से की शिकायत, बोरदेही थाने का मामला

Betul News: बैतूल। बोरदेही( bordehi) थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम बेहड़ी की एक विवाहिता ने दुराचार के मामले में दोषी पक्ष की ओर से बयान बदलने के लिए धमकी देने का आरोप लगाया है। पीड़िता का कहना है कि दोषी पक्ष द्वारा पहले उन्हें लोभ, लालच देने का प्रयास किया गया, जब वह नहीं मानी तो उन्हें अब डराया धमकाया जा रहा है। दुराचार का यह मामला न्यायालय में चल रहा है। पीड़िता का कहना है कि बयान नहीं बदलने के चलते अब दोषी पक्ष द्वारा षडयंत्र पूर्वक उनके पति और भाई के खिलाफ दुराचार की झूठी शिकायत की जा रही है। इस मामले में पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक से उच्चस्तरीय जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

शिकायत आवेदन में पीड़िता ने बताया कि महिला थाना बैतूल के अपराध क्र. 0011 / 2022 अंतर्गत धारा 376 (3) 506, लैंगिक अपराधो से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 34 के तहत लिखित सूचना पर 19/04/2022 को अपराध दर्ज किया गया है। आरोपी धर्मेन्द्र यादव न्यायिक अभिरक्षा में जेल में बंद है। प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन होकर अभियोजन साक्ष्य हेतू नियत है। पुलिस द्वारा प्रकरण दर्ज करने के बाद से ही आरोपी धर्मेन्द्र यादव पिता कमलेश यादव के परिवार के सदस्यगण शारदा यादव, अभिराम यादव, राकेश यादव, रंजन यादव, लवकुश यादव, मुकेश यादव, पिंटू यादव, ढींमर यादव, प्रेमलाल यादव, सदाराम यादव, लोभ लालच 10 लाख रुपये का तो कभी 3 लाख रुपये लेकर समझौता करने का दबाव डालते रहे है।

समझौता से इंकार करने पर परिवार सहित जान से मार डालने की धमकी एवं झूठे मुकदमे में फंसा देने की धमकी देते रहे है। इन लोगों का कहना है कि पुलिस एवं मजिस्ट्रेट को दिए गए बयान से अदालत में पलटना है। पुलिस थाना बोरदेही को इस बात की जानकारी है। पीड़िता ने बताया कि पास्को न्यायालय बैतूल में पेशी विगत 20 नवंबर कोअभियोजन साक्ष्य हेतु नियत थी। पुलिस थाना बोरदेही द्वारा अभियोजन साक्षी के पिता मदारी यादव एवं भाई राजेश यादव को पकड़ कर 25 नवंबर को गिरफ्तार करके लेकर चली गई है।

पुलिसकर्मी बताते है कि यह गिरफ्तारी दुराचार 376 के अपराध में की गई है, तुम्हारे भाई एवं पिता ने दुराचार किया है। इसके बाद पुलिस द्वारा मदारी यादव एवं राजेश यादव के विरुद्ध अपराध कायम किया गया है। आरोपी धर्मेन्द्र यादव के परिवार वाले कह रहे है कि पहले हमारे बेटे को जेल से निकलवा दो, अदालत से बरी करवा दो, तब तुम्हारे पिता मदारी यादव एवं राजेश यादव को हम बाहर निकलवा देंगे। सच यह है कि मदारी यादव एवं राजेश यादव के विरुद्ध झूठा मुकदमा दर्ज करवाने वाली महिला से पूर्व का कोई परिचय नहीं है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.