उमा रेसीडेंसी के दौर में महंगी रेत पर मौन रहने वाले कांग्रेसी अब क्या व्यक्तिगत व्यवसायिक हित के लिए सड़क पर उतरे!

Betul Mirror News: बैतूल। कांग्रेस के शहर अध्यक्ष रेत के रेट को लेकर सड़क पर उतरे, जबकि प्रशासन ने पहले ही 45 रुपए की जगह रेत का रेत 36 रूप घन फीट कर दिया। अब ठेकेदार इससे कम कर नही सकता फिर भी आंदोलन को लेकर मंशा पर आंदोलन में कलेक्ट्रेट में जुटे कांग्रेसी ही आपस में कानाफूसी करते देखे गए। कानाफूसी में वे कुटिल तरीके से मुसुकरा भी रहे थे। उनकी आपस की चर्चा से ही पता चला की उमा रेसीडेंसी के समय भी खदान से 32 से 34 रुपए रेत बिकी थी और डंप से 36 रुपए रेत बिकी पर तब कांग्रेस अध्यक्ष और उनके मेंटर पूर्व अध्यक्ष ने कभी मुंह नही खोला फिर अचानक अब क्यों उन्हे रेत महंगी लगाने लगी ,यह बड़ा सवाल है। आंदोलन में मौजूद कांग्रेसी ही जो आपस में कानाफूसी कर रहे थे उसका लब्बोलुआब यह था कि साहब व्यक्तिगत व्यवसायिक लक्ष्य की पूर्ति और श्रेय कुमार बनने के खेल में रेत में से तेल निकालने के लिए यह उपक्रम है । कांग्रेसी ही बोलते पाए गए की वे भी जानते है किसका कैसी ठेकेदारी का गणित है । वैसे अभी रेट पर दम दिखा रहे इन कांग्रेसी से यह सवाल भी पूछा जाना चाहिए कि जब रेत मिल ही नही रही थी तब वे कहा थे, तब क्यों मौन थे । मुद्दो की कमी नही पर पूरा फोकस क्या रेत पर ही होना सवाल खड़े करता है ? कही यह तमाशा केवल व्यवसायिक हित से तो नही जुडा…

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.