सुबह 11 से रात 8 बजे तक ज्ञापन लेने नहीं आया कोई अधिकारी

आदिवासियों ने बताई अपनी समस्या

रिपोर्ट जितेंद्र कापसे/ मुलताई। आमला ब्लाक अंतर्गत ग्राम बारंग वाड़ी के आदिवासी आज ज्ञापन देने एसडीएम महोदय को मुलताई पहुंचे थे लेकिन सुबह 11 बजे से रात 8 बजे तक कोई भी अधिकारी उनका ज्ञापन लेने नहीं आया। आक्रोशित आदिवासियों ने बताया कि कई बार आमला तहसीलदार को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया गया लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई।

जिससे नाराज आदिवासियों का समूह आज तहसील कार्यालय मुलताई पहुंचा था, लेकिन एसडीएम साहब नहीं होने के चलते रात के 8 बजे नायाब तहसीलदार द्वारा उनका ज्ञापन लिया गया। एक और हमारे देश की राष्ट्रपति आदिवासी समुदाय से आती है वही बैतूल हरदा हरसूद संसदीय क्षेत्र के विधायक भी आदिवासी समाज का नेतृत्व कर रहे हैं वहीं उसके बाद भी आदिवासियों की समस्या सुनने और उसका निराकरण करने के लिए अधिकारियों के पास समय नहीं है। जिसका जीता जागता उदाहरण आज मुलताई तहसील कार्यालय में देखने को मिला।

पूर्व जनपद पंचायत सदस्य जामु धुर्वे ने बताया कि ग्राम बारंग वाली के यह आदिवासी समुदाय के लोग अपने ग्राम में स्कूल और आंगनवाड़ी केंद्र बनाना चाहते हैं लेकिन वन भूमि बताकर उन्हें वहां निर्माण नहीं करने दिया जा रहा है जिसके चलते आदिवासी समाज आज परेशान हो रहा है। अपनी समस्या से अवगत कराने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्रीमती राजनंदिनी शर्मा को मिलने आए आदिवासी के समूह का ज्ञापन रात 8:00 बजे नायाब तहसीलदार दुनावा ने लिया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.