डागा हाउस से जारी एक और बयान बोगस साबित!

दो शराबियों के झगडे को राजनैतिक रंग देकर भाजपा को बदनाम करने का षडयंत्र उजागर

Betul Mirror News/बैतूल। विधायक निलय डागा के मीडिया सेल से संजय भलावी के नाम से एक बयान जारी किया गया है। इस बयान में बताया गया कि सांईखेड़ा थाना अंतर्गत सुनारखापा में बुधराम भलावी नामक भाजपा कार्यकर्ता और अन्य दो ने मारपीट की।

उक्त बयान में संजय भलावी के हवाले से लिखा गया है कि भाजपा कार्यकर्ता गांव में दादागिरी पर उतारू हो गए हैं और लोगों को डरा धमका रहे हैं। जबकि संजय भलावी ने सांईखेड़ा थाने में जो 13 नवंबर को जो आवेदन दिया है उसमें बताया है कि 13 नवंबर की शाम 4 बजे वह गांव के चौक पर खड़ा था और उसने दो गिलास कच्ची शराब पी थी। शराब उसे अनावेदक बुधराम भलावी ने पिलाई थी। तभी अनावेदक आया और बिना कारण धक्का मुक्की करने लगा और कहने लगा कि यहां से निकल तो मैंने कहा कि मेरी क्या गलती है तो वह उसके साथ गाली गलौच करने लगा और उसे धमकियां देने लगा।

पूरे मामले की जानकारी देते हुए भाजपा विधिक सेल के अध्यक्ष अधिवक्ता दिलीप यादव का आरोप है कि डागा हाउस से जारी कथित बयान में और थाने में दिए गए आवेदन में जमीन आसमान का अंतर बताता है कि डागा हाउस द्वारा जबरन भाजपा और हेमंत खंडेलवाल को बदनाम करने के लिए तरह-तरह के झूठे प्रपंच कर रहे हैं और बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि इस तरह के झूठ झपाट का सहारा लेकर वे चुनाव में लगातार माहौल खराब कर रहे हैं। इसके पहले भी उनके द्वारा आदिवासी हेमंत सरियाम के नाम से जारी बयान बोगस साबित हो चुका है। साफ नजर आ रहा है कि डागा झूठ का सहारा ले रहे हैं, क्योंकि उनके पास बोलने के लिए भी कुछ नहीं है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.