हेमंत भइया आपला मानुष होय, तेलेच आशीर्वाद देवाचा आहे

बोली महिलाए-दादा त्याच गावाले पानी पाजल तुलेच आशीर्वाद आहे आमचा

पेयजल-सिंचाई सुविधा मिलने से ग्रामीण भाजपा प्रत्याशी को दे रहे आशीर्वाद

Betul Mirror News/बैतूल। बैतूल विधानसभा क्षेत्र के ग्रामीण अंचलो में दशको से व्याप्त जलसंकट के स्थाई निराकरण के लिए ठोस पहल करते हुए भाजपा प्रत्याशी हेमंत खण्डेलवाल ने विधायक रहते हुए अनेको बड़े छोटे डेम स्वीकृत करवाए थे। डेमो से मिल रहे पानी से सुखे खेतो में हरयाली नजर आने लगी है। साथ ही समूह नल-जल योजनाओ से गांव-गांव में घर-घर नल से पानी मिल रहा है। इस चुनाव में ग्रामीण इलाको में विकास के साथ पेयजल और सिंचाई सुविधाओ का मुद्दा ग्रामीणो के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। ग्रामीण इलाको में जनसंपर्क के दौरान ग्रामीण-किसान विशेषकर महिलाओ द्वारा पेयजल और सिंचाई सुविधाओ की सौगात देने के लिए भाजपा प्रत्याशी हेमंत खण्डेलवाल का आत्मीयता से जगह-जगह स्वागत कर आशीर्वाद दिया जा रहा है। आठनेर क्षेत्र के जावरा सहित अन्य ग्रामो में जनसंपर्क के दौरान ग्रामीण मराठी भाषा में भाजपा प्रत्याशी श्री खण्डेलवाल द्वारा किए गए कार्याे की चर्चा करते सुने गए साथ ही महिलाओ ने मराठी में भाजपा प्रत्याशी को आशीर्वाद दिया। जावरा ग्राम में जनसंपर्क के दौरान चंद्रकला दवंडे, रंजना दंवडे, सुनीता दाबडे ने भाजपा प्रत्याशी श्री खण्डेलवाल का आरती उतारकर, तिलक लगाकर, पुष्पवर्षा कर स्वागत कर कहा कि ’’ दादा त्याच गावाले पानी पाजल तुलेच आशीर्वाद आहे आमचा ’’। महिलाओ के आत्मीय स्वागत से भावुक होकर श्री खण्डेलवाल ने उन्हे आश्वास्त किया कि आप सभी आशीर्वाद दे गांव की तरक्की, युवाओ को रोजगार दिलवाने, महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने तथा जन-जन में खुशहाली लाने के लिए वे कोई कोर कसर नही छोडेंगे। उक्त जानकारी भाजपा प्रत्याशी के मीडिया सेल द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी गई।
हेमन्त भइया ले खूब आशीर्वाद दीउन जितावा च आहे
आठनेर क्षेत्र के लगभग दो दर्जन ग्रामो में वर्षा से व्याप्त पेयजल संकट के निराकरण के लिए भाजपा प्रत्याशी हेमंत खण्डेलवाल द्वारा विधायक रहते हुए मध्यप्रदेश की पहली समूह जल योजना स्वीकृत करवाकर ताप्ती पारसडोह पर फिल्टर प्लांट लगवाने के साथ ही गांव-गांव में घर-घर तक पाईप लाईन बिछवाकर नलो से पानी की सप्लाई शुरू करवाई थी। परिणाम स्वरूप दो दर्जन ग्रामो के हजारो ग्रामीणो को अब पेयजल के लिए परेशान नही होना पड़ता है। पेयजल की उपलब्धता से महिलाओ को सर्वाधिक राहत मिली है। श्री खण्डेलवाल द्वारा गत दिनो जावरा, टिकनापुर, खडगड, धनोरा, ठानी, गुजरमाल, ठानी, पुसली, खापा, ऐनखेडा ग्रामो में किए गए जनसंपर्क के दौरान चौपाल पर ग्रामीणो के बीच मराठी में यह चर्चा होती रही कि ‘‘ हेमंत भइया आपला मानुष होय, जेन घरी-घरी पानी पोयचवल, डेम बनउला, हर वावरात पानी पोयचवल, हर मानसा संग आपल्या सदस्य सारका व्यवहार केला, अदिक समदयचया सुख दुखात सहयोग केला, पोरयाचा पढ़ाई अन रोड, इलाज, लाइन, रोजगार ची चिन्ता हेमन्त न केली। असा मानुष आहे थो एका फोनवर गावी इउनजाते। हेमन्त भइया ले खूब आशीर्वाद दीउन जितावा च आहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.